Saturday, September 12, 2020

Himalaya Pilex Tablet बवासीर की दवा

 Himalaya Pilex Tablet बवासीर की दवा के बारे जानकारी 



नमस्कार दोस्तों nicehindi चैनल को स्वागत करता हूँ ,आज हम बात करेंगे Himalaya Pilex Tablet के बारे में .जैस ही इसका नाम से पता चल टा है की इस हिमालय कंपनी बनता  है .और यह पाइल्स केलिए बनाया गया है .

मतलब हिंदी में piles को बबासीर कहेते हैं -

देखिये बबासीर दो तरह की होते हैं -  1-बादी बबासीर  2-खुनी बबासिर

यह दबा इसंह दोनों की ऊपर काम करके उसे ठीक करती है .तो एंड तक पोस्ट को पड़ते रहें में आपको बताता हूँ की यह बबासीर क्या होता है ,कैसे होता पूरी जानकारी .

खुनी बबासीर जब आपका स्टूल पास होता है उस टाइम आपका मल के साथ खून भी आता है .

अब बात करते हैं बादी बबासीर की बारे में यह बबासीर मेंआपका जो स्टूल पास होने का एरिया होता है वहां पे swealing हो  जाता है .जो की स्टूल पास होने के टाइम पैन होता है .

बबासीर होने का कारन क्या है -

यह होने का पहेला कारन है कब्ज .कब्ज होने का कारन होता है आपका खान पान के बजहसे आप जो भी खाना खा रहें वोह ठीक से आपके बॉडी में पाच नही रहा है उसके बजहसे कब्ज होता है .

तोह यह दबा आपके कब्ज को ठीक करने में काम करता है .

इसके अन्दर होता है हरीतकी , बहेड़ा ,अरगाबाद और कन्चलारा यह चारो मिल्कोर आपका कब्ज को ठीक करने में मदत करता है .यह आपके लीवर को मजबूत करते हैं .आपके जो acid secretion होतें हैं उसे वोह कण्ट्रोल करता है .और यह सारे चीज़ आपके कब्ज को ठीक करने में मदत करता हैं .

तो यह तो आपका कब्ज को ठीक करदिया मतलब  यह  future में आपको बबासीर ना हो .लिकिन यदि आपको piles होगया है तोह यह कैसे कम करता है .

आपका जो स्टूल  paas होने के टाइम दर्द  होता है इसका मतलब है जो आपके मलदुअर हैं वहां पे आपके सेल्स डैमेज होगये होंगे उसे ठीक करने में ,इस दबा के अन्दर सुध सिलाजीत जो इसे ठीक करता है .

और इसके अन्दर है जसद भस्म और नीम जो की इसे ठीक करने में सिलाजीत के साथ मदत करते हैं .मतलब जो जसद भस्म है वोह सिलाजीत का healing करने के पॉवर को बाधा देती है और नीम में एंटी  बैक्टीरिया गुण होने के कारन यह बकातेरिया को ख़तम करने में मदत करता है .

और इसमें है नागकेसर जो की खून आने में रोकता है .

और इसमें है अमला जो की antioxident से भरपूर है जो की डैमेज सेल्स को रिपेयर करने में मदत करता है ,और metabolisim को ठीक करता है .

और इसमें है गुगुलू  जो की आपका वेट को बैलेंस करने में मदत करता है .

Dosage of Himalaya Pilex Tablet

इसे लेने के तरीका की बात करें तो यह दबा 1-2 गोली लेनी चाहिए खाना खाने के बाद .लिकिन में आपको सलाह करूँगा की आप डॉक्टर की सलाह पर ही इस दबा का सबन करें .

और इस दबा का उपयोग बचों में न करें .

Side Effects of Himalaya Pilex Tablet

अब बात करते हैं इस दबा का साइड इफेक्ट्स की बारे मे - हिमालय कंपनी के अनुसार यह दबा पूरी तरह सुरिस्खित है .लिकिन यदि आपको कुछ कोमों साइड इफेक्ट्स दिखे तोह आप डॉक्टर से जरुर कंसल्ट करें .

No comments:

Post a Comment